भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Zoology (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें
Please click here to view the introductory pages of the dictionary

Virulence

उग्रता
संक्रमित करने की अत्यधिक क्षमता।

Virulent strain

उग्र प्रभेद
वह प्रभेद जो किसी परपोषी में बहुत कम संख्या में रहते हुए भी रोग उत्पन्न करने की क्षमता रखता है।

Virus

विषाणु
प्रोटीन कोट से आवृत्त डी.एन.ए. या आर.एन.ए. के क्रोड से बने अकोशिकीय तथा अवसूक्ष्मदर्शीय संक्रामक कण; जो सुग्राही परजीवी कोशिका में प्रविष्ट होने पर अपने न्यूक्लीक अम्लों के निर्देशन में तथा परजीवी कोशिका के रसायनिक संश्लेषण तंत्र की सहायता से अपनी वृद्धि प्रतिकृतियन करते हैं।

Viscera

अंतरंगं
शरीर के अंदर की गुहा में पाए जाने वाले अंग; जैसे हृदय यकृत्, आँत्र आदि।

Visceral skeleton

हनुकंकाल
मछलियों में अस्थि या उपास्थि के वे तत्व जो मिलकर क्लोम-चापों, कांठिका-चाप और चिबुक चाप निर्माण करते हैं।

Vitamin

विटामिन
कार्बनिक अणु जिनकी सामान्य स्वास्थ्य तथा वृद्धि के लिए अत्यंत अल्प मात्रा में आवश्यकता होती है। इनका निर्माण उपापचयी पथ द्वारा नहीं होता, अतः इन्हें आहार के साथ लेना पड़ता है। इनका वर्गीकरण जल-विलेय (विटामिन सी तथा बी काम्लेक्स) और वसा विलेय (विटामिन ए.,डी.,ई.,तथा के ) के रुप में किया गया है।

Vitellarium

पोषद अंडाशय, विटेलेरियम
पीतक ग्रंथि; अंडाशयक, अंड-नलिका का वह भाग जिसमें पीतर (योक) के जमा हो जाने से अंडकों की वृद्धि होकर वे परिपक्व हो जाते हैं।

Vitelline gland

पीतक ग्रंथि
अंडाणुओं के चारों तरफ पीतक उत्पन्न करने वाली ग्रंथि, जो चपटे कृमि, रोटिफ़र आदि ऐसे अकशेरुकियों में पाई जाती है जिनके अंडाणु में पीतक नहीं होता।

Vitelline layer

पीतकी परत
अधिकंशतः ग्लाइकोप्रोटीन से बनी पारदर्शी जो कशेरुकियों तथा अकशेरुकियों की अंड कोशिका की प्लाज्मा झिल्ली को घेरे रहती है। स्तनधारियों में इसे पारदर्शी अंडावरण कहते हैं।

Viteline membane

पीतक झिल्ली
अंडाणु के चारों और लगी तथा उसी से स्त्रावित होने वाली झिल्ली। यह जरायु के नीचे लगी रहती हैं। इसे ‘प्राथमिक अंड कला’ भी कहते हैं।

Vitellophag

पीतकभोजी
अंतश्चर्मी कोशिकाएँ जो पीतक में फलित होती हैं और पीतक के पाछन में आंशिक रुप से योग देती हैं।

Vitreous chamber

काचाभ द्रव-कक्ष
कशेरुकियों की आँख में लेन्स और रेटिना के बीच का कक्ष जिसमें काचाभ द्रव भरा रहता है।

Vitreous humour

काचाभ द्रव
कशेरुकियों में आँख के पश्च कक्ष में लेन्स और रेटिना के बीच के भाग में भरा हुआ पारदर्शी अर्धतरल पदार्थ।

Viviparity

सजीव-प्रजता, जरायुजता
जनन-मार्ग में अंडों को धारण करने और जरायु के फटने पर शिशुओं को जन्म देने की प्रक्रिया अथवा मादा के शरीर में भ्रूण का बढ़ना-पनपना। यह अवस्था सभी अपरा-स्तनियों में तथा छुट-पुट रुप में कुछ अन्य प्राणियों (जैसे बिच्छू शार्क आदि) में देखी जाती है।

Viviparous

सजीवप्रजक
बच्चों को जन्म देने वाली मादाएँ। सूत्रकृमियों में भ्रूणीय परिवर्धन के दौरान सुस्पष्ट अंडकवच नहीं होता और निक्षेपण से पहले डिंभक गर्भाशय में रहते हैं।

Viviparous

जरायुज, सजीवप्रजक
ऐसे मादा प्राणियों के लिए प्रुयक्त जिनमें भ्रूण जन्म से पहले कुछ समय तक शरीर के अंदर पनपते रहते हैं। सभी अपरायुक्त स्तनी इसी श्रेणी में आते हैं।

Vocal cord

वाक् रज्जु
श्लेष्मा कला के वलन जो कंठ( लैरिंक्स) की गुहिका में निकले रहते हैं। इनके कंपन से ध्वनि उत्पन्न होती है और ये अधिकांश स्तनियों तथा कुछ अन्य चतुष्पादों में पाए जाते हैं।

Vocal sac

वाक् कोष
मुख-गुहा के दोनों तरफ थैली जैसी अनुनादी संरचनाएँ; जैसे कुछ जातियों के नर मेंढकों में।

Voluntary action

ऐच्छिक क्रिया
इच्छा के अनुसार होने वाली क्रिया; जैसे रेखित पेशियों की गति।

Voluntary muscle

ऐच्छिक पेशी
रेखाओं वाला सकुंचनशील ऊतक जो कशेरुकियों में कई केंद्रकों वाली लंबी कोशिकाओं से बनता है। ये पेशियाँ कृत्रिम उद्धीपनों के प्रति अनुक्रिया के रुप में या प्राणी की इच्छा के अनुसार कार्य करती हैं। उदा. ऊपरी भुजा की द्विशिरस्क (बाइसेप्स) पेशी।

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App