भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Surgical Terms (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें
Please click here to view the introductory pages of the dictionary

< previous12345Next >

S

संधिवेधन
यह कुछ किस्म के संधि शोथों के लिये की जाने वाली नैदानिक प्रक्रिया है। इसमें एक विशेष सुई को संधि गुहा में प्रवेशित कराकर, गुहा में उपस्थित द्रव को बाहर खींच लेते हैं। इस प्रक्रिया के सुचारू रूप से होने के लिये संबंधित जो को विशेष औषधियों (Local anaesthetic agent) की मदद से संज्ञाशून्य कर देते हैं। संबंधित जोड़ की त्वचा का संक्रमण हीन (aseptic) होना आवश्यक है। जोड़ों में प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला संधि-द्र (Synovial fluid) पारदर्शक, पीताभ (Straw coloure) व हल्का चिपचिपा (Viscous) होता है जिसे यदि एसेटिक एसिड (Glacial acetic acid) में मिलाया जाय तो सफेद चिपचिपा थक्का प्राप्त होता है। किंतु संधि रोग होने पर संधि द्रव अपारदर्शक (Turbid) व द्रवीय (Watery) होता है जिसे एसेटिक अम्ल में मिश्रित करने पर भुरफुरा व शीघ्र विखंडीय (Flocculent & easily broken) थक्का बनता है। शोथ होने पर संधि द्रव में श्वेत रक्त कणिकाओं की संख्या और प्रोटीन बढ़ जाता है तथा शर्करा (Glucose) की मात्रा कम हो जाती है। विशेष परिस्थितियों में संधि द्रव का (Culture) व सूक्ष्मदर्शीय अध्ययन भी किया जाता है।

Sacrum

त्रिक, सेक्रम
कई कशेरूको के जुड़ से बनी संरचना जो चतुष्पादों में श्रोणि मेखला की इलियम अस्थि से सटी रही है।

Salivary Calculus

लालाश्मरी
लाल ग्रांथियों में होने वाला अश्मरी।

Sarcoma

सार्कोमा
संयोजी ऊतकों (connective) का जल्दी ही बढ़ने वालां दुर्दम अर्बुद। इसका फैलाव (dissemination) खासतौर पर खून के प्रवाह के जरिए होता है। इसकी चिकित्सा इसे ऑपरेशन करके निकाल देना है। साथ में एक्स-रे तथा रसायन चिकित्सा (radiotherapy and chemotherapy) भी हालात के मुताबिक की जाती है। इसका अन्त हमेशा ही बुरा होता है यानि इसका इलाज होना संभव नहीं है।

Scalpel

स्केलपल या छुरिका
एक छोटी सीधी छुरी जिसका किनारा आमतौर पर उन्नतोदर (convex) होता है।

Saphocephaly

नौकाकार-करोटि
इस अवस्था में अग्र पश्च सीवन (sagittal suture) की कालपूर्व संयुक्ति के कारण करोटि अनुप्रस्थ दिशा (transversely) में बढ़ती है।

Scar

व्रणचिन्हन या क्षत चिह्न यह एक निशान (mark) है जो तन्तु ऊतक (fibrous tissue) का बना होता है और क्षत के विरोहण या घाव के भरने (healing of a wound) के बाद भी बना रहता है।

Schmore’S Node

श्मोर पर्व
विकिरण-चिकित्सा के कारण उत्पन्न होने वाली एक अवस्था (radiological manifestation) जिसमें मज्जी केन्द्रक (nucleus pulpous), कशेरुका काय (vertebral body) की ओर निकल जाता है।

Scissors

कैंची या कर्तरी
एक यंत्र जिसके दोनों फलक एक ही धुरी पर घूमते हैं तथा एक दूसरे के ऊपर काट करते हैं।

Scoleosis

पार्श्व कुब्जता
मेरुदण्ड (spine) का एक तरफ को मुड़ जाना (पार्श्व वक्रता-lateral curvature) लेकिन इस अवस्था के कारण जन्म जात (congenital), अर्जित (acquired), अज्ञातहेतुक (idopathic) स्थितिक अंगधाती, (postural paralysis) या वक्षज (thoracogenic) होते हैं। इसकी चिकित्सा मेरुदण्ड ब्रेस (spinal brace) और उपाचारी व्यायाम (remedial excercises) है। वर्धी प्रकार की पार्श्व कुब्जता (progressive type of scoleosis) में शस्त्रकर्म जरूरी है।

Scoop

स्कूप
संकरे चम्मच के समान एक यंत्र जिसका उपयोग गुहाओं और पुटियों की अनतर्वस्तुओं को बाहर निकालने में किया जाता है।

Secondary Syphilis

द्वितीयक सिफिलिस
प्राथमिक सिफिलिसी व्रण (primary) के विरोहण (healing) के बाद सिफिलिस की द्वितीयक (secondary) अवस्था। चित्तीदार विस्फोट (macular rash) का बनना इसकी एक विशिष्टता है। सिफिलिस की चिकित्सा में रोगनरोध तथा रोगमुक्ति (prevention and cure) शामिल है। निरोध चिकित्सा में सामूहिक शिक्षा (mass education) तथा रोगग्रस्त व्यक्तियों का उपचार शामिल है। रोगमुक्ति चिकित्सा के अन्तर्गत प्रतिजीवी चिकित्सा (antibiotic therapy) का काफी समय तक प्रयोग भी सम्मिलित है।

Semilunar Bone

अर्धचन्द्राकार अस्थि
शरीर में स्थित अर्धचन्द्राकृति अस्थि।

Seminal Vescicle

शुक्राशरा
नर जनन तंत्र का एक भाग जहां वृषण से आए शुक्राणु जमा होते हैं।

Senile Kerarosis

जरा केरेटिनता
एक सूखी शल्की विक्षति जो बूढ़े रोगियों में देखने को मिलती है, जिसके कारण बाद में पट्टकी कोशिका कार्सिनोमा (squarmous cell carcinoma) भ हो सकता है।

Septic Abortion

पूति गर्भपात
गर्भाशय में पूय निर्माण के कारण गर्भपात होना।

Septicema

पूतिजीव रक्तता, सेप्टिसीमिया
रूधिर में सूक्ष्मजीवों के आक्रमण तथा बदुगुणन के कारण उत्पन्न होने वाली एक अस्वस्थ अवस्था।

Septum

पट
प्राणियों के शरीर में दो गुहाओं, उतक पुंजो आदि को एक दुसरे से अलग करने वाली भित्ति कला या संरचना। उदाहरण कशेरूकियों में नासिका पट तथा अलिंद निलय पट।

Sequestrum Forceps

विविक्ति संदंश संहार
एक संदंश है जिसमें छोटे छोटे मजबूत दन्तुर प्रक्षेप होते हैं। इसका उपयोग अस्थि के उस भाग को निकालने में किया जाता है जो विविक्तांश (sequestrum) बनाता है।

Serum

सीरम रक्तोद
प्लाजमा का वह भाग जिसमें से स्कंदन के फलस्वरूप फाइब्रिनोजन तथा स्कंदन में शामिल होने वाले अन्य प्रोटीन निकल गये हों।
< previous12345Next >

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App